You are here

31 दिसंबर को इलाहबाद में जुटेगे हजारो लोधी राजपूत समाज के सरदार समर्थक

लखनऊ .सरदारवादी विचारधारा के बैनर तले 31 दिसंबर 2017 को इलाहबाद में जुट रहे सरदार समर्थक अपने लाखो साथियो के साथ लौह पुरुष सरदार बल्लभ भाई पटेल के महापरिनिर्वाण दिवस कार्यक्रम में सरदार साहब की नीतियों को आत्मसात करते हुए देश में किसान व नौजावान क्रांति का आगाज करेंगे ,इस कार्यक्रम हेतु इलाहबाद के साथ- साथ राजधानी लखनऊ से लगायत चित्रकूट ,बाँदा ,वनारस में भी सरदार समर्थक बैठक कर सरदार की नीतियों से लोगो को अवगत कराते हुए इलाहबाद व सीमावर्ती जिलो से सरदार समर्थको को पहुचने की अपील कर रहे है.

सरदारवादी विचारधारा के समर्थक रास्ट्रीय क्रांति पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष वृजलाल लोधी ने एक मुलाकात में बताया कि इलाहबाद में पटेल साहब के महापरिनिर्वाण दिवस पर आयोजित कार्यक्रम में राजनीतिक अपेक्षाओ से परे हटकर देश के तमाम सरदार समर्थक इलाहाबाद पहुच रहे है ,हमारी संस्था वीरांगना अवंतीबाई क्रांति वाहिनी के कार्यकर्ता अनेकता में एकता के प्रतीक लौह पुरुष सरदार पटेल के सपनो का भारत बनाने हेतु सरदारवादी विचारधारा के बैनर तले एकजुट होकर गाव -गोंव में सरदार साहब की नीतियों का सन्देश पंहुचा रहे है .

उन्होंने कहा कि कहा कि होने जा रहे महापरिनिर्वाण दिवस के मार्फ़त देश में किसान क्रांति का आग़ाज़ होगा ,जिसके लिए भारत के हर किसान ,नौजवान को सरदारवादी विचारधारा को आत्मसात कर राष्ट्रीय भावना व समानता से एकजुट होकर पूरे तन और मन से विचारधारा को आगे पहुचाने का कार्य करना होगा .इस देश में एकता व अखण्डता की लहर होनी चाहिए ताकि सरदार पटेल जी के सपनो को साकार करते हुए उन्हें सच्ची श्रद्धाजंली दी जा सके.

श्री लोधी ने कहा कि सरदार पटेल देश के तमाम जाति-धर्मों को एक साथ समानता एवं एकीकरण के उद्देश्य से लेकर भारत को दुनिया का सबसे शक्तिशाली देश बनाना चाहते थे . सरदार साहब की विचारधारा भारत को दुनिया का सबसे बड़ा कृषि उत्पादक देश बनाना था, उनका लक्ष्य था कि हिन्दुस्तान में किसानों को कृषि को उद्योग का दर्जा दिया जाय जिससे कि देश के किसान पुरी दुनिया में खुद को गौरन्वावित कर सके. सरदार पटेल के पूरे जीवन काल में किये गये कार्य को पढ़ा जाय तो इनसे बड़ी विचारधारा हिन्दुस्तान में कही नहीं पायी जा सकती.जिस प्रकार लौहपुरूष सरदार बल्लभभाई पटेल ने हिन्दुस्तान का नक्शा दुनिया के सामने प्रस्तुत किया वह अतुलनिय है . उन्होंने देश को विश्व गुरू बनाने का सपना देखा था, हम सभी लोग मिलकर उनके सपनों को पूरा करने का इसलिए आज जो देश के सामने स्थिति बनी है वह दुर्भाग्यपूर्ण है.हमें उनके विचारो पर चलकर उनके सपनों का भारत बनाते हुए देश में जातीय विष का जहर बोने वालो को मुहतोड़ जबाब देना होगा .

उन्होंने लोधी राजपूत समाज समेत सम्पूर्ण कृषक समाज से अपील किया है कि 31 दिसम्बर को इलाहबाद पहुचकर सरदार साहब को श्रदांजलि देकर किसान ,नौजवान हेतु प्रारंभ हो रहे क्रांति के आगाज में आगे बढ़ने का प्रण ले .

न्यूज़ अटैक हाशिए पर खड़े समाज की आवाज बनने का एक प्रयास है. हमारी पत्रकारिता को सरकार और कॉरपोरेट दबाव से मुक्त रखने के लिए हमारा आर्थिक सहयोग करें .

न्यूज़ अटैक का पेज लाइक करें –
(खबर कैसी लगी बताएं जरूर. आप हमें फेसबुक, ट्विटर और गूगल प्लस पर फॉलो भी कर सकते हैं.)






इसे भी पढ़े -