You are here

नौकरी की चाह में पहुचे बेरोजगारों को मिली लाठियां

गोरखपुर .पंडित दीन दयाल उपाध्याय जन्म शाताब्दी वर्ष के उपलक्ष्य में गोरखपुर विश्वविद्यालय में शुरू हुआ रोजगार मेला पूरी तरह अव्यवस्था का शिकार हो गया. नौकरी की चाह लेकर यहां आए बेरोजगारों को पुलिस की लाठियां और धक्कामुक्की मिली. इस बर्बरता में विकलांग और महिला अभ्यर्थी भी शिकार हुईं.

कानपुर : क्या रेप पीड़िता का साथ देकर प्रतीक्षा कटियार ने जुर्म कर दिया ?

यहां मची भगदड़ में कुछ अभ्यर्थी चुटहिल भी हो गए. सेवा योजन विभाग, कौशल विकास मिशन एवं व्यवसायिक शिक्षा विभाग द्वारा संयुक्त रूप से आयोजित दो दिवसीय रोजगार मेले में शामिल होने के लिए गोरखपुर एवं बस्ती मण्डल के 7 जिलों से तकरीबन 18 हजार अभ्यर्थी पहुंचे थे. इनमें बड़ी संख्या में महिला व दिव्यांग अभ्यर्थी भी थे.


विश्वविद्यालय के दीक्षा भवन में 3 अलग-अलग तल पर 30 कक्षाओं में साक्षात्कार होना था. लिहाजा बड़ी संख्या में युवक-युवतियों की भीड़ उमड़ पड़ी. भीड़ अचानक बढ़ जाने के कारण व्यवस्था में लगे लोग संभाल नहीं पाए और धक्का-मुक्की शुरू हो गई. बेरोजगारों की भीड़ को अनियंत्रित होते देख पुलिस ने बल प्रयोग शुरू कर दिया. भीड़ में भगदड़ मच गई. भाग रहे बेरोजगारों पर पुलिस जमकर लाठियां भी चलाई. कुछ ने तो राइफल के बट से भी प्रहार कर दिया.

आजम खान की जुबान के बदले 50 लाख रुपए इनाम देगा भगवाधारी,उतरौला में प्रदर्शन

पुलिस की इस बर्बरता की शिकार महिला अभ्यर्थियों के साथ दिव्यांग भी हुए. एक दिव्यांग की ट्राइ साइकिल भी क्षतिग्रस्त हो गई. कई महिला अभ्यर्थी खुद को संभाल नहीं पाई और भगदड़ में गिर गई. एक महिला और एक दिव्यांग कुचलकर घायल हो गए.

साभार -हिंदुस्तान

(खबर कैसी लगी बताएं जरूर. आप हमें फेसबुक, ट्विटर और गूगल प्लस पर फॉलो भी कर सकते हैं.)




loading…


इसे भी पढ़े -

One Thought to “नौकरी की चाह में पहुचे बेरोजगारों को मिली लाठियां”

  1. […] नौकरी की चाह में पहुचे बेरोजगारों को म… […]

Leave a Comment