You are here

वाह प्रभाकर साहब ………

लखनऊ |नौजवान दिखने में मासूम साधारण लिबास। एकदम स्टूडेंट टाइप अंदाज में एक युवक पीठ पर बैग लटकाए  साधारण बस एव ऑटो रिक्शा से यात्रा कर दोपहर करीब ढाई बजे कानपुर देहात पुलिस कप्तान  के बंगले में दाखिल होता है। पुलिस कप्तान के स्टेनों के बारे में पूछने पर दरबान  सिपाही हाथ से संबंधित कमरे की तरफ जाने का इशारा…

आगे पढ़े ...

समाजवादी पार्टी पर यादवों का समर्थन करने की बात गलत -अमर सिंह

शीला दीक्षित ब्राह्मण  नहीं पंजाबी है–अमर सिंह कानपुर |समाजवादी पार्टी पर जाति विशेष के लिए काम करने का आरोप लगने पर एक बार फिर अमर सिंह ने मोर्चा संभाल लिया और कहा  कि अगर सपा जातिवादी पार्टी होती तो पार्टी मुखिया मुलायम सिंह यादव की तीन बहुयें ठाकुर जाति से न होती और यादव परिवार पर ठाकुर बहुओं का कब्जा…

आगे पढ़े ...
1 2