You are here

बेरोज़गारी के विरुद्ध फ़ैज़ाबाद में निकला वाहन रैली,लगे सरकार विरोधी नारे

लखनऊ. बढ़ती बेरोजगारी व नशाखोरी के विरोध में  युवा सड़कों पर उतरकर विरोध प्रदर्शन कर अपने  हक़ हुकुक़ की लड़ाई लड़ने को मजबूर  हैं ,केंद्र  व राज्य सरकार  की नीतियो के कारण बेरोज़गारी बढ़ रही है जबकि प्रधानमंत्री ने यूवाओ को रोज़गार देने का वादा किया था.

सोमवार  को  फ़ैज़ाबाद के रुदौली नगर में  बेरोज़गारी  के मुद्दे पर विशाल रैली निकाली गई जो रुदौली के हनुमान किला मन्दिर के सामने से शुरू होकर रुदौली नगर के विभिन्न मोहल्लों से गुजरते हुए तहसील रुदौली में महामहिम राज्यपाल को सम्बोधित ज्ञापन देकर सपन्न हुई .

प्राप्त जानकारी के अनुसार जन प्रगति समिति के बैनर तले हज़ारोंकी संख्या में  एकत्र यूवाओ ने  रुदौली में एकत्र होकर जनजागरण रैली निकालते हुए सरकार विरोधी नारा लगाया।.रैली मोहल्ला कटरा, नवाबबाजार, कोतवाली, डाक बंगला होते हुए तहसील पहुंची जहां एसडीएम द्वारा महामहिम राज्यपाल को संबोधित दो सूत्रीय ज्ञापन तहसीलदार रामजन्म यादव को सौंपा गया .

रैली को संबोधित करते हुए जन प्रगति समिति के अध्यक्ष श्याम जी पटेल ने कहा कि प्रदेश में चंद पदों के लिए हजारों बेरोजगार युवाओं को कतार में लगना पड़ता है .इतना ही नहीं इन बेरोजगार युवाओं पर पुलिस लाठियां भांजती है और जिम्मेदार कोई कार्रवाई नहीं करते . रोजगार के नाम पर युवाओं को भजीये-पकौड़ी तलने का सुझाव दिया जा रहा है . प्रदेश के लाखों बेरोजगार युवा नौकरी की तलाश में दर-दर की ठोकरें खा रहें हैं फिर भी उन्हें न तो नौकरी मिल रही और न ही रोजगार मिला इसके बावजूद सरकार रोजगार देने के खोखले दावे कर रही है , हकीकत यह है कि वर्तमान सरकार की जनविरोधी नितियों के कारण बेरोजगारी बढ़ती जा रही है जिस कारण  युवाओं को पलायन करना पड़ रहा है वहीं बड़ी संख्या में ऐसे युवा हैं जो योग्यता से कमतर कार्य करने पर मजबूर हैं .

यूवा नेता राजकुमार वर्मा ने कहा कि नशा सिर्फ एक व्यक्ति को ही खराब नही करता वरन घर परिवार और समाज को भी नुकसान पंहुचाता है . ऐसे में हम सभी का दायित्व बनता है कि हम एक ऐसे समाज की रचना करें  जहां नशे के लिए कोई जगह न हो .अपने संबोधन में विकास पटेल ने कहा नशा एक सामाजिक बुराई है और इसकी हर स्तर पर बुराई होना चाहिए .प्रतिदिन होने वाले सड़क दुर्घटना में ज्यादातर मामले शराब के निकलने और शराब की वजह से परिवार के बिखरने की घटनाओं ने झकझोर दिया .नशे का कारोबार चरम पर होने के कारण यहां के अधिकतर युवा नशे का शिकार होते जा रहे हैं .


कार्यक्रम में  शामिल युवाओं ने अपने विचार रखेते हुए बेरोजगारी के लिए सरकार को जिम्मेदार ठहराया .इस अवसर पर डॉ राम कृपाल वर्मा, विनोद वर्मा, डॉ देवीलाल निषाद, डॉ राम सजीवन लोधी, दिनेश वर्मा, फैज सलमानी, मो. हसन, अमन पटेल, राज कुमार, विकास पटेल, दीपक भारती, दीपक गुप्ता, गंगाराम वर्मा, गोपाल गुप्ता, पतिराम रावत, राजू यादव आदि सैकड़ो लोग मौजूद रहे . 

इसे भी पढ़े -

Leave a Comment