You are here

भगवाचोले में छिपा नैमिषारण्य का महंथ सेक्स वासना का पुजारी निकला ,तलाशी में अंगौछे पर स्पर्म व वियाग्रा के खाली रैपर मिले

धर्म की आड़ व भगवाचोले में छिपे बाबा राम रहीम व फलाहारी बाबा ,आशाराम समेत अन्य धर्म का लवादा ओढ़ सेक्स के पुजारियों की असलियत सामने आने के बाद से ही अन्य धार्मिक पोगापंथियो का भंडाफोड़ हो रहा है .लखनऊ से सटे सीतापुर के विश्वप्रसिद्ध चक्रतीर्थ नैमिषारण्य का महंथ भी धरम की आड़ में महिलाओं को अपनी हबस का शिकार बना रहा था जिसकी असलियत एक दलित महिला ने खोल दिया है .

सीतापुर के रामपुर कलां थाना क्षेत्र की 21 वर्षीय युवती ने हिम्मत जुटाते हुए प्रभावशाली महंथ के यौन पिपाशा की भूख को जगजाहिर करते हुए मिश्रिख कोतवाली में इस ढोगी महंथ और कुछ अन्य लोगो के विरुद्ध मुकदमा दर्ज करवाया है .मुकदमा दर्ज होने के बाद मिश्रिख कोतवाली पुलिस ने महंत को गिरफ्तार कर लिया है, मुकदमे में आरोपी एक विद्यालय का प्रबंधक अभी फरार है.

मिश्रिख के पुलिस क्षेत्रधिकारी राधारमण सिंह के अनुसार सोमवार देर रात युवती ने डायल 100 पुलिस को सूचना दी थी कि उसके साथ आठ माह से बंधक बनाकर दुराचार किया जा रहा है. पुलिस तत्काल महंत सियाराम दास को उसके आवास से युवती के साथ पकड़कर मिश्रिख कोतवाली ले लाई. प्रथम दृष्टया युवती के आरोप सही पाए गए हैं. महंत व उसके स्कूलों की प्रबंधक रिंटू सिंह के खिलाफ मिश्रिख कोतवाली में 376,120बी, एससी एसटी की धाराओं में केस दर्ज किया गया है. बाबा सियाराम दास को गिरफ्तार कर लिया गया है प्रबंधक रिंटू सिंह की तलाश की जा रही है.

अपर पुलिस अधीक्षक ने तलासी के दौरान महंत के कमरे से मिले अंगौछे पर स्पर्म मिलने की बात कही है. मेडिकल पुष्टि के लिए अंगौछा सहित कई अन्य सामान भी जब्त कर लिए गए हैं. कमरे से व्याग्रा के खाली रैपर भी मिले हैं.

बताया जाता है कि बंधक बनाकर लगातार दुराचार का शिकार हो रही युवती का विवाह पटू नाम के युवक के साथ हुआ था. दोनों के 2015 में संबंध-विच्छेद हो गए. चचरे भाई नोखे के कहने पर मिश्रिख स्थित चंद्र भगवान इंटर कॉलेज आ गई. यहां से बाबा सियाराम के स्कूलों की प्रबंधक रिंटू सिंह उसे बाबा के पैतृक घर आगरा ले गई. आगरा में करीब आठ महीने तक बाबा ने उसे अपने साथ रखकर यौन शोषण करता रहा. सोमवार रात उसे मिश्रिख लाया गया, जहां बाबा पहले से मौजूद था, यहां फिर उससे जबर्दस्ती की गई. महंत के सोने के बाद मौका पाकर महंत के ही मोबाइल से 100 नंबर डायल कर पुलिस को अपने साथ हो रहे घटना की सूचना दी.

इसे भी पढ़े -

 

(खबर कैसी लगी बताएं जरूर. आप हमें फेसबुक, ट्विटर और गूगल प्लस पर फॉलो भी कर सकते हैं.)

इसे भी पढ़े -

Leave a Comment