कर्मों का ही फल है कि नवरात्र में मंदिर के बजाय कोर्ट कचहरी के चक्कर काट रहे लालू -JDU

पटना.रास्ट्रीय जनता दल के मुखिया पूर्व मुख्यमंत्री लालू यादव पर जदयू ने आज बड़ा हमला बोला है ,राजद मुखिया द्वारा झारखण्ड में दिए गए वयान कि ” झारखण्ड से भाजपा का सुफडा साफ़ करने हेतु बन रहा महागठबंधन ” के बाद ही जदयू प्रवक्ता व विधान पार्षद नीरज कुमार ने यह हमला बोला है.

सीबीआई द्वारा लालू प्रसाद यादव को सम्मन जारी किये जाने के बाद जदयू प्रवक्ता नीरज कुमार ने कहा कि उनके कर्मों का ही फल है कि नवरात्र में माता के मंदिर के बजाय कोर्ट कचहरी के चक्कर काटने पड़ रहे हैं.लालू ने जैसा कर्म किया है वैसा ही फल वह और उनका परिवार भोग रहा है.

जदयू प्रवक्ता ने शायराना अंदाज में कहा कि “कोई काहू मगन कोई काहू मगन” उनका इशारा लालू कुनबे द्वारा बेहिसाब संपत्ति अर्जित करने की तरफ था. उन्होंने कहा कि नवरात्र में पूरे देश की जनता मां दुर्गा के यहां शीश झुका रही है तो लालू और उनके परिवार को सीबीआई, ईडी और कोर्ट कचहरी में पेश होना पड़ रहा है.

जदयू प्रवक्ता नीरज ने कहा कि लालू के कर्मों का फल उनका परिवार भोग रहा है. मुकदमे, पेशी, कोर्ट कचहरी सीबीआई, बेऊर जेल , होटवार जेल के तो लालू अभ्यस्त हैं. लालू को तो कोई मानसिक परेशानी है नहीं. चिंता तो बच्चों को है जो उनके कारनामों का फल भोगेंगे. लालू के लिए कोर्ट कचहरी जेल यात्रा सौभाग्य है और यही सौभाग्य अपने बच्चों को दिलाने के लिए वे इस कदर लालायित हो गये कि पूरे परिवार को न्यायिक जकड़न में फंसा दिया.

नीरज ने कहा कि लालू प्रसाद विरोधियों पर मुकदमे में फंसाने का आरोप लगाते हैं तो उन्हें कोर्ट जाना चाहिए. उन्होंने कहा कि कोर्ट में तो वे गिड़गिड़ाते हैं कि रोजाना पेशी से परेशानी है लेकिन अपना तर्क नहीं रखते.

इसे भी पढ़े –

(खबर कैसी लगी बताएं जरूर. आप हमें फेसबुक, ट्विटर और गूगल प्लस पर फॉलो भी कर सकते हैं.)




इसे भी पढ़े -

Leave a Comment