You are here

अब मुलायम सिंह यादव के खिलाफ बगावत की तैयारी,बन रही रणनीति

लखनऊ .समाजवादी पार्टी के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष शिवपाल यादव को चरखा दाव मारते हुए पूर्व सपा सुप्रीमो मुलायम सिंह यादव बेटे अखिलेश यादव के साथ खड़े हो गए हैं. मुलायम सिंह यादव की प्रेस वार्ता से नई पार्टी को जन्म देने का प्रयाश करने वाले नेताओ को करार झटका लगा जब नेता जी ने नई पार्टी के जन्म को लेकर स्पस्ट इन्कार करते हुए बेटे अखिलेश को आशीर्वाद दिया .शिवपाल गुट के नेताओ को अब यह बात समझ में आ गई कि नेता जी मुलायम सिंह यादव नई पार्टी के पक्षधर नहीं है .मुलायम के इस कदम से भाई शिवपाल टी खामोश है किन्तु शिवपाल समर्थको ने बगावती तेवर अपना लिया है ,पूरी तरह से मौन हैं, लेकिन उनके करीबियों ने नेताजी के खिलाफ बगावती रूप अख्तियार कर लिया है.

मुलायम और शिवपाल के खासमखास पूर्व मंत्री शारदा प्रसाद शुक्ल तो मुलायम द्वारा नई पार्टी की घोषणा न करने से इतने खफा है कि मुलायम सिंह यादव को न सिर्फ नकली समाजवादी करार दिया बल्कि कहा कि दोनों बाप-बेटे मिले हुए हैं. मुलायम सिर्फ अखिलेश को मजबूत करने मे जुटे है.
इतना ही नहीं शारदा प्रसाद शुक्ल ने यहाँ तक कहा कि मुलायम सिंह यादव पार्टी कार्यकर्ताओं और जनता के साथ छलावा कर रहे है. सपा का अब कोई वजूद नही रह गया पिछले चुनाव में कन्नौज से डिम्पल यादव 20 हजार वोटो से हार गयी थी, लेकिन सरकार होने के कारण उन्हे जबरन जिताया गया था .

आज तक के अनुसार मुलायम के रवैए से शिवपाल खेमा इस कदर नाराज है कि वो अलग पार्टी बनाने की संभावनाएं तलाशने में जुट गया है. मुलायम के यू टर्न के बाद, शिवपाल अपने समर्थकों में गुस्से को देखते हुए खुद ही खुद ही प्रेस कॉन्फ्रेंस करने वाले थे, लेकिन ऐन वक्त कैंसिल कर दिया.इसके बाद से जाहिर तौर पर शिवपाल मौन हैं, लेकिन नई पार्टी बनाने की उम्मीद को उन्होंने छोड़ा नहीं है.

समाजवादी पार्टी में पारिवारिक युद्ध का कारण रहे पूर्व सपा महासचिव अमर सिंह ने भी मुलायम पर तंज कसा है ,जिन्होंने विंध्याचल में पिता-पुत्र की इस लड़ाई को ड्रामा करार दिया था .उन्होंने कहा था कि मुलायम सिंह की बेटे अखिलेश को मजबूत करने की एक सोची समझी चाल है जिसमें बाकी लोग ठगे जा रहे हैं.

फिरहाल बताया जा रहा है कि शिवपाल समर्थक नई पार्टी बनाए जाने की उम्मीद पर टिके है ,जिन्हें उम्मीद है कि समाजवादी पार्टी में बाप -बेटे की दिखावटी लड़ाई में बलि का बकरा बने सपा से नाराज नेताओ के एकजुटता से शीघ्र है नए दल की बुनियाद शिवपाल यादव के नेतृतव में पड़ेगी .


इसे भी पढ़े -

(खबर कैसी लगी बताएं जरूर. आप हमें फेसबुक, ट्विटर और गूगल प्लस पर फॉलो भी कर सकते हैं.)




इसे भी पढ़े -

Leave a Comment