You are here

आजम खान की जुबान के बदले 50 लाख रुपए इनाम देगा भगवाधारी,उतरौला में प्रदर्शन

फरीद आरज़ू
शाहजहांपुर/बलरामपुर .समाजवादी पार्टी नेता आजम खान के बयान पर विवाद खत्म होने का नाम नहीं ले रहा है. गुरुवार को शाहजहांपुर और बलरामपुर समेत अन्य जनपदों में भगवाधारियो ने आजम के विरुद्ध प्रदर्शन किया .शाहजहांपुर में विश्व हिन्दू परिषद के जिलामंत्री राजेश अवस्थी ने आजम खान की जुबान काटकर लाने वाले को 50 लाख रुपए इनाम देने की घोषणा की है. राजेश अवस्थी ने कहा कि भारतीय सेना के कारण ही हम सब चैन की सांस लेते हैं. आजम खां ने सैनिकों के खिलाफ जो टिप्पणी की है, वह बहुत ही निंदनीय है.

अमरीका में लगे ‘मोदी गो बैक’ के नारे ,खबर घोट गई मीडिया

राजेश अवस्थी ने कहा कि ऐसे लोगों को भारत से निकाल दिया जाना चाहिए, आजम खान का सिर कलम करा देना चाहिए.उसने पहले भारत माता को लेकर टिप्पणी की थी अब भारतीय सैनिकों के खिलाफ उसने बदजुबानी की है. मैं आजम खान की जुबान काटकर लाने वाले को 50 लाख रुपए इनाम दूंगा. आजम जैसे जयचंदों के रहते देश का कतई कल्याण नहीं हो सकता. राजेश अवस्थी ने गुरुवार को कलक्ट्रेट गेट पर आजम खां का पुतला फूंकने के बाद मीडिया को यह बयान दिया.

अब पीएचडी धारकों का अभियान ‘मोदी हटाओ-पीएचडी बचाओ’

वही बलरामपुर में जिले के उतरौला मे शिव राष्ट्र सेना ने जुलुस निकाला और श्यामाप्रसाद मुखर्जी चौराहे पर सपा नेता आजम खान का पुतला फूंककर विरोध जताया.

शिव राष्ट्र सेना के जिलाध्यक्ष अमरनाथ सोनी के नेतृत्व में गोंडा मोड़ तिराहे से जुलुस निकाल कर श्यामा प्रसाद मुखर्जी चौराहे पर भारतीय जवानों के विरुद्ध अमर्यादित टिप्पणी को लेकर आजम खान के विरुद्ध जमकर नारेबाजी की और उनका पुतला फूंककर विरोध जताया.इस अवसर पर शिव राष्ट्र् सेना के जिला मंत्री संतोष, डी के गुप्त,नगर अध्यक्ष अंकुश सोनी,रवि शंकर,विशाल ,अमित विजय व् अजय सोनी सहित दर्जनों कार्यकर्त्ता शामिल थे.



न डिग्री न रजिस्ट्रेशन फिर भी बन गया वक़ील केशव पंडित



सनद रहे पूर्व मंत्री आजम ने ये बयान मंगलवार देर रात रामपुर के सपा कैम्प दफ्तर में कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए कहा था कि कई लोग फौजी के या बेगुनाहों के सिर उतारते हैं, कई लोग हाथ काटते हैं लेकिन महिला दहशतगर्द फौजियों के प्राइवेट पार्ट्स को काट कर ले गईं. उन्हें हाथ से शिकायत नहीं थी, उन्हें सिर से शिकायत नहीं थी, पैर से भी नहीं थी. जिस्म के जिस हिस्से से उन्हें शिकायत थी, उसे वे अपने साथ ले गईं. ये कितना बड़ा सन्देश है, हमें इस पर सोचना चाहिए.

(खबर कैसी लगी बताएं जरूर. आप हमें फेसबुक, ट्विटर और गूगल प्लस पर फॉलो भी कर सकते हैं.)




loading...


इसे भी पढ़े -

Leave a Comment