You are here

लखनऊ : सवर्ण इंस्पेक्टर ने किया 12 वर्षीय बच्चे के साथ दुष्कर्म

भारतीय संगम पार्टी व साधना सिंह ने किया तत्काल गिरफ्तारी की मांग

लखनऊ .मानवता को शर्मसार करने वाला एक मामला राजधानी लखनऊ में हुआ है ,नागरिको के रक्षा की सौगंध खाने वाले एक ठाकुर इंस्पेक्टर ने इस घटना को अंजाम दिया है . उत्तर प्रदेश सचिवालय में तैनात इंस्पेक्टर वीरपाल सिंह भदौरिया ने पड़ोस में रहने वाले 12 वर्षीय बच्चे को कार में बैठाकर उसके साथ कुकर्म किया.

प्राप्त खबरों के अनुसार इंस्पेक्टर वीरपाल सिंह भदौरिया बच्चे को आईसक्रीम खिलाने की बात कहकर अपने साथ ले गया था,जो कुकर्म के दौरान बच्चे के विरोध करने पर उसके परिवार को जान से मारने की धमकी देकर उसे चुप करा दिया. बच्चा रोते हुए घर लौटा और बिना खाना खाए लेट गया. रात को जब घरवालों ने उसे जगाने की कोशिश की तो वह बदहवास था. किसी तरह घरवालो ने बच्चे से पूछा आपबीती सुनकर घरवालों के होश उड़ गए.

बच्चे के साथ घटी घटना की जानकारी घरवालो ने आशियाना थाने को देते हुए मुकदमा दर्ज करने व दोषी इस्पेक्टर को तत्काल गिरफ्तार करने की मांग किया .घरवालो का आरोप है कि आशियाना ठाने में शिकायत के बाद पुलिस ने उन पर सुलह करने का दबाव बनाया किन्तु सुलह की गुन्जाईस न देख बाद में पुलिस ने इंस्पेक्टर वीरपाल सिंह भदौरिया के खिलाफ केस दर्ज करके बच्चे को मेडिकल के लिए भेजा.

 

बताया जाता है कि घटना आशियाना के सेक्टर-एन की है. यहां रहने वाले ज्योतिषाचार्य का 12 वर्षीय बेटा एक निजी स्कूल में कक्षा-सात का छात्र है. उनके पड़ोस में इंस्पेक्टर वीरपाल सिंह भदौरिया रहता है, जो इस समय सचिवालय में तैनात है. बच्चे के अनुसार शनिवार शाम 7:30 बजे इंस्पेक्टर उनके घर आया और उसके पिता जी के बारे में पूछा. बच्चे ने बताया कि पिता घर पर नहीं हैं. इंस्पेक्टर उसे आईस्क्रीम खिलाने की बात कहकर साथ ले गया. बच्चे के अनुसार इंस्पेक्टर वीरपाल सिंह भदौरिया उसे अपनी कार में बैठाकर खजाना मार्केट ले गया.आईस्क्रीम खिलाने के बाद इंस्पेक्टर ने अश्लील हरकत की जिसका विरोध करने पर धमकाया कि मेरी बात नहीं मानी तो तुम्हारी मां और बहन को जान से मार दूंगा. आप्राकृतिक दुराचार से बच्चे की हालत बिगड़ने पर रात साढ़े आठ बजे इंस्पेक्टर उसे घर के बाहर छोड़कर फरार हो गया.

इंस्पेक्टर द्वारा की गई दरिंदगी से दर्द से बेहाल बच्च चुपचाप अपने कमरे में जाकर लेट गया. रात में घर लौटे पिता कमरे में गए तो बच्च बदहवास हालत में था. पूछताछ करने पर बच्च रोने लगा और बोला कि पापा, गेट मत खोलना वरना इंस्पेक्टर अंकल सबको मार देंगे. पिता के कुरेदने पर बच्चे ने घरवालों को आपबीती बता दी. पीड़ित के पिता ने बताया कि उनके बहनोई पुलिस में हैं जो देवरिया में तैनात हैं. उन्होंने फोन करके पूरी बात बताई. उनकी सलाह पर घरवाले आशियाना थाने पहुंचे और तहरीर दी.

आशियाना थानाध्यक्ष राजकरन वर्मा ने बताया कि इंस्पेक्टर के खिलाफ केस दर्ज करके जांच की जा रही है.

बच्चे के साथ हुए आप्राकृतिक दुष्कर्म को लेकर लोगो में आक्रोश व्यापत है ,लखनऊ नगर निगम मेयर पद हेतु चुनाव की दावेदार साधना सिंह सचान व भारतीय संगम पार्टी की रास्ट्रीय अध्यक्ष सुधा पटेल ने कहा की आशियाना पुलिस ने यदि आरोपी इस्पेक्टर को तत्काल गिरफ्तार नहीं करती है तो हम आन्दोलन करेंगे .

 

इसे भी पढ़े - 

(खबर कैसी लगी बताएं जरूर. आप हमें फेसबुक, ट्विटर और गूगल प्लस पर फॉलो भी कर सकते हैं.)




loading...


इसे भी पढ़े -

Leave a Comment