You are here

दहेज मुक्त बिहार व बाल विवाह बनेगा जदयू का मुख्य मुद्दा

पटना. शराबबंदी से सुधरे बिहार के हालत व गरीब परिवार के चेहरे पर मुस्कान देखकर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार गदगद है .शराब बंदी के मुख्यमंत्री के निर्णय की देश भर में सराहना हुई थी ,अनेक प्रान्तों में शराब बंदी को लेकर आन्दोलन तक हुए . बिहार के मुख्यमंत्री व जदयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष नीतीश कुमार ने फिर से एक सामाजिक मुद्दे को जन्म दे दिया है ,इस मुद्दे को लेकर बिपक्ष विरोध की बजाय नीतीश की सराहना करेगा .नीतीश के इस मुद्दे को भी देश भर से समर्थन मिलना तय माना जा रहा है

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार का दल जेडीयू अब 2 अक्टूबर से दहेज मुक्त बिहार और बाल विवाह के ख़िलाफ़ बड़ा अभियान छेड़ने की पुरजोर तैयारी कर रहा है. दहेज मुक्त विवाह एक सामाजिक मुद्दा है , जिसका शायद ही कोई विरोध कर सके. जेडीयू अध्यक्ष नीतीश कुमार कई बार ऐसे अहम् फैसले लेते हैं, जो उनके सहयोगियों के साथ-साथ उनके विरोधियों को भी हैरान और परेशान कर देता है.

जेडीयू इन मुद्दों के बहाने अपने विरोधियो को भी समर्थन की मांग कर रहा है, फिरहाल जब मुद्दा इतना बड़ा हो तो इसका सामाजिक और राजनीतिक लाभ मिलना भी तय है. शराब बंदी की तरह जनता का पुरजोर समर्थन इस मुद्दे को मिलना तय है .

इसे भी पढ़े –

(खबर कैसी लगी बताएं जरूर. आप हमें फेसबुक, ट्विटर और गूगल प्लस पर फॉलो भी कर सकते हैं.)




इसे भी पढ़े -

Leave a Comment